नॉन वेज पसंद करने वालों के लिए फिश एक बेहतरीन ऑप्शन है, जो कि पोषकतत्वों से भरपूर होती है। फिश की कई वैराइटी होती है, जिनमें से एक है, सैलमन फिश। यह ताज़े पानी के अलावा खारे पानी में भी रह सकती है। यह ऊपर से चांदी जैसे कलर की होती है, लेकिन साफ करने से इसका रंग ऑरेंज हो जाता है। इसके सेवन से विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं में भी आराम मिलता है। यह ओमेगा3 फैटी एसिड से भरपूर होती है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन, B विटामिन्स, सेलेनियम भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। वे लोग जो वज़न कम करने के इच्छुक हैं, उन्हें सैलमन फिश के सेवन से बेहतरीन नतीजे देखने को मिल सकते है। इस पोस्ट में हम आपको सालमन फिश के फायदों Salmon fish in hindi के बारे में विस्तार से बताएंगे।

Salmon fish in hindi


Nutrients in salmon fish in hindi

सालमन फिश पोषक तत्वों से भरपूर होता है कई तरह के विटामिन, खनिज तत्वों की पर्याप्त मात्रा, प्रोटीन, वसा, इसमे पाए जाते है। प्रति 100 ग्राम सालमन फिश में पोषक तत्वों की उपलब्धता की दृष्टि से पाए जाने वाले सारे पोषक तत्व कुछ इस प्रकार है-

● पानी 17 g

● एनर्जी 117 kcal

● प्रोटीन 18.28 g

● फैट 4.32 g

● आयरन 0.85 mg

● फॉस्फोरस 164 mg

● कैल्शियम 11 mg

● मैग्नीशियम 18 mg

● पोटैशियम 175 mg

● सोडियम 672 mg

● कोलेस्ट्रॉल 23 mg

इनके अलावा सालमन फिश से हमें विटामिन ए ,बी ,डी ,ई ,के आदि भी पर्याप्त मात्रा में प्राप्त हो जाते है। स्रोत - USDA

●और पढें :- सामान्य दही और ग्रीक दही में क्या फर्क है, देखिए

●और पढें :- Amazing health benefits of dhanurasana। धनुरासन के फायदे


Benefits of salmon fish in hindi

सालमन फिश के सेवन से होने वाले फायदे कुछ इस प्रकार है -

● विटामिन डी का स्रोत :- आमतौर पर हर कोई विटामिन डी के प्राकृतिक स्त्रोत के रूप में सूर्य की किरणों को जानते है। इसके अलावा क्या आप यह भी जानते है कि प्रति व्यक्ति विटामिन डी की जितनी आवश्यकता होती है वह आप एक कटोरी सालमन फिश के सेवन से प्राप्त कर सकते है। विटामिन डी की कमी से आप कई गंभीर बीमारियों के चपेट में आ सकते है जैसे - रयूमेटाइड अर्थराइटिस, कैंसर, टाइप 1 डायबिटीज ।

●और पढें :- टाइप 2 डायबिटीज का घरेलू तरीके से इलाज करीए। देखिए कौन से है वे तरीके ।

● तनाव मुक्ति का साधन :- तनाव मानव जीवन का अभिन्न अंग है, यह कभी भी किसी भी रूप में आ सकता है और इसका नतीजा होता है शारीरिक और मानसिक रूप से थकान, दर्द, और कई सारे बीमारियों को आगमन। दरअसल जब भी हम स्ट्रेस या तनाव में होते है तो हमारे शरीर में एड्रिनल ग्रन्थि से कार्टिसोल नाम का हार्मोन्स स्त्राव होता है जो कि तनाव से निपटने में हमारी मदद करता है। सालमन फिश ओमेगा एसिड का प्रचुर स्रोत होता है जिससे हमारे एड्रिनल ग्रंथि और कार्टिसोल हार्मोन्स का स्त्राव नियंत्रण में रहता है और इसकी मात्रा संतुलित बनी रहती है।

● सालमन मछली में कई एन्टी ऑक्सीडेंट मौजूद होती है जो कि हमारे उत्तक और कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। 

● पोषक तत्वों की उपलब्धता की दृष्टि से सालमन मछली एक कंप्लीट पैक है। इसमे विटामिन ए, डी, बी ( बायोटिन, पैंटोथिनीक) ओमेगा 3 एसिड, जिंक, सेलेनियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन आदि प्रचुर मात्रा में मिल जाते है।

● सालमन मछली हड्डियों के जॉइंट और उससे जुड़े अन्य बीमारियों से भी बचाव का काम करते है। इसमे मौजूद विटामिन डी और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट ऑस्टियोपोरोसिस जैसे गंभीर हड्डी बीमारी के रिस्क को कम करने में सहायक होता है। एक शोध में यह भी बात सामने आई है कि जिन महिलाओं के द्वारा ओमेगा 3 एसिड से भरपूर भोजन का सेवन किया गया है उनमें हीप फ्रैक्चर की संभावना बहुत कम हो जाती है।

● सालमन मछली के फायदों में एक और महत्वपूर्ण बात यह कि ये मस्तिष्क की कार्यक्षमता में वृध्दि करने में बहुत सहायक होती है। गर्भावस्था में महिला द्वारा इसका सेवन किया जाए तो बच्चें के विद्यालयीन गतिविधियों में इसका बहुत ही सकारात्मक असर देखने को मिलता है। यह सब ओमेगा एसिड के ही प्रभाव से होता है।

● सामन मछली एक हाई प्रोटीन फ़ूड होने के कारण यह वेट लूज़ करने के दृष्टिकोण से भी एक बेहतर खाद्य पदार्थ है। इसमे मौजूद हाई प्रोटीन कंटेंट में भूख को नियंत्रित करने वाले हार्मोन्स भी पाये जाते है साथ ही ये हार्मोन्स उपापचय की दर को भी निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इस कारण सालमन मछली वजन घटाने के लिए अच्छा माध्यम है।

● एक शोध में यह बात पता चली की सालमन मछली का सेवन करने वालो में आंख से सम्बंधित बीमारियों की समस्या बहुत ही कम होती है। आखों में सूखापन, धुँधलाहट, आंखों में लालपन आने जैसी समस्या सालमन मछली खाने वाले लोगो मे बहुत ही कम देखने को मिलती है।

●और पढें :- जानिए क्या खास बात है चीया सीड्स की जो कम्पलीट ऊर्जा का स्रोत है।

●और पढें :- यूरिन इंफेक्शन और पथरी का इलाज है इस रस के सेवन में। करें रोजाना इस्तेमाल

● सालमन मछली में मौजूद ओमेगा 3 एसिड और सेलेनियम तत्व की अन्य विशेषता यह भी है कि यह कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी से लड़ने में भी मददगार है। सेलेनियम एक अच्छा एन्टी ऑक्सीडेंट है जो कैंसर सेल्स से लड़ने में शरीर की काफी मदद करता है।

● ओमेगा 3 फैटी एसिड के कारण सालमन फिश एन्टी एजिंग का भी काम करती है। यह त्वचा के प्रदाह को नियंत्रित करती है साथ ही त्वचा के पोर्स को बंद होने से रोकती है और स्किन में होने वाले झुर्रियों को भी सीमित करते हुए नियंत्रित रखती है।

इस प्रकार सालमन फिश (Salmon fish in hindi) के फायदे के बारे में हमने आपको विस्तार से बताने का प्रयास किया। किसी भी तरह की अन्य जानकारी के आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है या हमें मेल कर सकते है। 


Post a Comment

नया पेज पुराने