सेंधा नमक खाने के फायदे और नुकसान 

नमक खाने में इस्तेमाल होने वाली एक ऐसी चीज़ है, जो कि हर घर में प्रयोग किया जाता है, नमक में सोडियम पाया जाता है। कुछ लोग नमक ज़्यादा खाते हैं,तो कुछ लोग कम, लेकिन खाते ज़रूर हैं। सेंधा नमक का प्रयोग उपवास इत्यादि में मुख्य रूप से किया जाता है।सेंधा नमक sendha namak जिसे हिमालय नमक Himalaya salt के नाम से भी जाना जाता है। इसका प्रयोग खाने के अलावा डेकोरेशन, स्पा ट्रीटमेंट इत्यादि के लिए भी किया जाता है। सेंधा नमक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, इसे रिफाइन किये बिना तैयार किया जाता है। ये हार्ट औऱ किडनी के लिए काफी फायदेमंद होता है।sendha namak ke fayde सेंधा नमक रंगहीन या अलग अलग रंगों का भी हो सकता है। ये इस बात पर निर्भर करता है, कि इसमें शुद्धता कितनी है। इस पोस्ट में हम आपके सवाल sendha namak khane ke fayde bataen in hindi के बारे में बात करेंगे ।

Sendha namak ke fayde aur side effect in hindi
Sendha namak ke fayde bataen


Sendha namak benefits in Hindi

भारत मे सेंधा नमक की उपलब्धता:-

यह भारत में कम मात्रा में पाया जाता है। यह मुख्य रूप से पाकिस्तान के लाहौर में पाया जाता है। अगर इसे खाने के सादे नमक के बदले इस्तेमाल किया जाए तो सेहत के लिए ज़्यादा बेहतर है।


सेंधा नमक के प्रचलित नाम (Regional name of sendha namak ):-


सैंधव नमक-सिंधु नदी के कारण


लाहौरी नमक-लाहौर में मिलने के कारण


रॉक साल्ट-सेंधा नमक का इंग्लिश नाम


हैलाइट - ग्रीक शब्द से उतपत्ति


सेंधा नमक के फायदे (sendha namak ke fayde):-


सेंधा नमक में मिनरल्स (minerals in sendha namak):-

सेंधा नमक के बहुत से फायदे हैं, इसे रोजमर्रा के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले नमक के बजाय भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें प्रचुर मात्रा में मिनरल पाये जाते हैं, जैसे पोटासियम, सोडियम , मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन और जिंक इत्यादि।


सेंधा नमक का उपयोग वजन कम करने में (sendha namak use for weight loss)

आज के समय में हर व्यक्ति स्लिम दिखना चाहता है, इसके लिए विभिन्न प्रकार के एक्सरसाइज, डाइटिंग के अनुसार खाना, जिम जाना इत्यादि कार्य किये जाते हैं, बेहतर है, कि यदिआप वज़न घटाना चाह रहे हैं, तो अपनी डाइट में सादे नमक की जगह सेंधा नमक शामिल कर लें। यह न केवल शरीर से एक्सट्रा फैट हटाता है, बल्कि यह अतिरिक्त खाने की ललक को कम करके चयापचय की प्रक्रिया में भी वृद्धि करता है।


सेंधा नमक का एसिडिटी में फायदा (Sendha namak for acidity) :-

यह हाई ब्लड प्रेशर, एसिडिटी, पेट की जलन , अल्सर इत्यादि बीमारियों से राहत दिलाने में मदद करता है।


सेंधा नमक का एन्फ्लूएंजा में फायदा (Sendha namak benefits in influenza) :-

यह पेट के कीड़ो को मारता है, उलटी को कंट्रोल करता है। इन्फ्लूएंजा की बीमारी को भी ठीक करने में कारगर होता है।


सेंधा नमक का गले मे फायदा (benefits of rock salt in neck) :-

यह गले की जलन, सूखी खांसी, टॉन्सिल, साइनस जैसी बीमारियों में आराम पंहुचाता है। इसका प्रयोग अस्थमा, ब्रोंकाइटिस इत्यादि बीमारियोंमें भी काम आता है।


सेंधा नमक का अर्थराइटिस में फायदा (sendha namak benefits in Arthritis) :-

इसका प्रयोग अर्थराइटिस, किडनी और पित्ताशय की पथरी जैसे रोगों को ठीक करने में भी किया जाता है।


सेंधा नमक का ब्लड सर्कुलेशन में फायदा (Sendha namak benefits in blood circulation) :-

यह शरीर के विषैले मिनरल को हटा के ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाता है। साथ ही साथ ph बैलेंस को संतुलित रखता है।


सेंधा नमक का दाँतो में फायदा ( sendha namak benefits in teeth)

सेंधा नमक के पानी से गरारा करने से गले की ख़राश में आराम मिलता है। यह दाँतो का पीलापन भी दूर करता है औऱ माउथ फ्रेशनर का भी काम करता है।


सेंधा नमक का डिप्रेशन में फायदा (Sendha namak benefits in depression) :-

सेंधा नमक मिले हुए पानी से नहाने से शरीर को आराम मिलता है, मानसिक तनाव दूर होता है, दर्द दूर होता है , ब्लड प्रेशर को कम करता है। आप अपने नहाने के पानी में एक चम्मच सेंधा नमक डालकर नहा के खुद ही फर्क महसूस कर सकते हैं।


सेंधा नमक का मांशपेशियों में फायदा (sendha namak benefits in muscles):-

मांसपेशियों में ऐंठन होने पर 1 चम्मच सेंधा नमक को पानी में मिलाकर पीने से आराम मिलता है।


सेंधा नमक का हड्डियों में फायदा (Sendha namak benefits in bone) :-

यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है औऱ हड्डियों को मज़बूती प्रदान करता है।


सेंधा नमक का बालों में फायदा (sendha namak benefits in Hair) :-

यह बालों के भी लाभकारी होता है, बालों में जमे हुए मैल को साफ करता है, इसे शैम्पू के साथ मिक्स करके इस्तेमाल किया जाता है।


सेंधा नमक का त्वचा में फायदा (sendha namak benefits for skin) :-

यह शरीर की त्वचा के डेड स्किन सेल को भी हटाने का काम करता है, स्किन पोर्स की सफाई करता है। जिससे त्वचा की रंगत निखरती है। साथ ही ये बॉडी स्क्रब के लिए भी यूज़ किया जा सकता है।


सेंधा नमक का स्क्रबिंग में फायदा (Sendha namak benefits for scrubbing):-

इसका प्रयोग फुट स्क्रबिंग और हैंड स्क्रबिंग के लिए भी किया जा सकता है।


सेंधा नमक का फेसवाश में फायदा (sendha namak benefits for face wash):-

इसे आप अपने फेस वाश में मिलाकर फेसिअल स्क्रब की तरह यूज़ कर सकते हैं।


सेंधा नमक का नाखूनों में फायदा (sendha namak benefits for nails) :-

कभी कभी हमारे नाखूनों में पीलापन आ जाता है जो कि फंगस के कारण होता है। सेंधा नमक इस समस्या से निपटने में बहुत कारगर होता है।इसमें पाये जाने वाले मिनरल फंगस को जड़ से समाप्त करने में प्रभावशाली साबित होते हैं।


सेंधा नमक खाने के नुकसान (sendha namak khane ke nuksan):-

सेंधा नमक के जहाँ बेमिसाल फायदे हैं, वहीं इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं-


सेंधा नमक का दिल के मरीजों को नुकसान (Sendha namak side effects for heart patience):-

सेंधा नमक के ज़्यादा इस्तेमाल से शरीर में पानी की कमी, हार्ट एवं किडनी संबंधी बीमारियां, मांसपेशियों में अकड़न और हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।


सेंधा नमक से बच्चों को नुकसान (sendha namak side effects for children):-

5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को सेंधा नमक न दे।


सेंधा नमक का डायबिटीज में नुकसान (sendha namak side effects in for diabetes patience) :-

यदि आप डायबिटीज के मरीज है तो आपको सेंधा नमक के सेवन से बचना चाहिए।यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम करता है। इसका ज़्यादा सेवन डायबिटीज की समस्या को बढ़ाता है।


सेंधा नमक का गर्भावस्था में नुकसान (side effect of rock salt in pregnancy) :-

 गर्भवती महिलाओं को सेंधा नमक के सेवन से परहेज करना चाहिये।यदि आपको सेंधा नमक का सेवन गर्भावस्था में करना है तो बेहतर होगा कि आप अपने चिकित्सक से सलाह लेकर ही इसका उपयोग करें।


यह भी पढें:-मुलेठी वजन कम करने में बहुत ज्यादा मदद कर सकती है।


सेंधा नमक से एलर्जी (Sendha namak se allergy) :-

सेंधा नमक से कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती है, उन्हें इसके सेवन से उलटी, पेट दर्द , लूज़ मोशन की समस्या हो सकती है। इसलिए अगर आपको इसके सेवन से ऐसी कोई समस्या हो तो, तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।


यह भी पढें:- मेमोरी लॉस में कारगर साबित हो सकती है काली मिर्च का सेवन


सेंधा नमक और काला नमक में अंतर (difference between kala namak and sendha namak) :-

काला नमक गहरा भूरा, काला या बैगनी रंग का हो सकता है , लेकिन जब इसे पिसा जाता है, यह गुलाबी रंग का हो जाता है। इसका प्रयोग सलाद, रायता इत्यादि में किया जाता है। काला नमक का प्रयोग टूथपेस्ट में भी किया जाता है, इसका प्रयोग भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। काला नमक उत्तरी भारत एवं पाकिस्तान में पाया जाता है। यह हिस्टीरिया जैसी बीमारी में भी आराम पहुँचाता है।


सेंधा नमक यूँ तो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है, अगर ये सही मात्रा में और सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो। लेकिन चूंकि हम सादा नमक इस्तेमाल करने के आदि हो चुके हैं, तो शुरुआत में हमें इसका स्वाद थोड़ा अलग लग सकता है, जब आदत पड़ जाएगी तो यह भी अच्छा लगेगा।sendha namak khane ke fayde bataen in hindi के इस पोस्ट में हमने आपको सेंधा नमक से जुड़ी हर फायदे और नुकसान को बताने की पूरी कोशिश की। किसी भी प्रकार की औषधीय उपयोग करने से पूर्व अपने चिकित्सक से अवश्य सलाह लेकर ही काम करें।





Post a Comment

नया पेज पुराने