Tea or coffee which is better for you; read here in hindi.

पिछले कई वर्षों से लोगों की जीवन शैली में काफी बदलाव आया है। जैसे जैसे भारत में विकास हो रहा है, लोगों की दिनचर्या भी बदलती जा रही है। किन्तु चाहे अमीर हो या गरीब, व्यापारी हो या नौकरी पेशा हर घर में सबकी एक आदत होती है, सुबह की शुरुआत हर घर में, चाय या कॉफी से ही होती है, बल्कि आजकल तो लोगों में बेड टी की भी आदत हो गई है। जहां चाय या कॉफी पीने से लोगों को ताज़गी का अनुभव होता है, वहीं इनसे हमारे शरीर को कुछ नुकसान भी हो सकता है, वैसे इन दोनों में ही कैलोरीज़ नहीं होती , जब हम इसमें दूध या मलाई मिलाते हैं , तब इसमें कैलोरी add होती है, आइये बात करते हैं कि चाय या कॉफी में से , कौन हमारे शरीर को ज्यादा नुकसान पहुंचाता है और किसका सेवन शरीर के लिए सही है।

Tea vs coffee


२ कप ब्लैक का‌फी या ब्लैक टी में कैलोरी


काफ़ी- ५ कैलोरी


टी- ५ कैलोरी


प्रोटीन


काफ़ी- 0.6


चाय- 0


कैल्शियम


कॉफी- 1%


चाय- 0%


पोटासियम


कॉफ़ी-7%


टी- 5%


फोलेट


कॉफ़ी-2%


टी-6%


कैफीन


कॉफी-190mg


कॉफ़ी- 95mg


choline


कॉफ़ी-4%


टी-0.5%

इस हिसाब से अगर देखा जाय तो, कॉफ़ी ज़्यादा फायदेमन्द है, यदि हम प्रतिदिन 2 कप कॉफी लेते है, तो हमारी सेहत को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं है।

कॉफी कैसे बनती है ?

आइये, सबसे पहले हम कॉफी के बारे में जानते हैं कि यह किस प्रकार बनती है औऱ किन चीजों से बनी होती है।

कॉफ़ी एक पेय पदार्थ है जो कि रोस्टेड कॉफी बीन्स से बनी होती है। कॉफ़ी डार्ककलर की, कडवी औऱ थोड़ी अम्लीय होती है, जो कि दुनिया का सबसे प्रसिद्ध पेय पदार्थ है। इसकी कई प्रकार की क़िस्म है जैसे कि एस्प्रेसो, फ्रेंच press, caffe latte इत्यादि। कॉफी 2 प्रकार से बनती है- हॉट कॉफ़ी औऱ कोल्ड कॉफी। कॉफी पीने के वैसे तो बहुत से फायदे हैं, जिसमें से एक महत्वपूर्ण फायदा ये है की आजकल डिप्रेशन एक आम बात है और कॉफी डिप्रेशन से निपटने में हमारी बहुत मदद करती है। वो लोग जो ऑफिस में काम करते हैं, उनके लिये कॉफी बेहतरीन है क्योंकि ये थकान को दूर करती है, इसका इस्तेमाल कई प्रकार के कैंसर से भी बचाव करता है, सर दर्द में आराम मिलता है, इसके सेवन से हमारा लीवर भी सुरक्षित रहता है, इसी प्रकार इसके और भी बहुत से फायदे हैं।

कॉफी पीने के नुकसान :-

हर चीज के जहाँ फायदे होते हैं, वहीं कुछ नुकसान भी होते है। इसी प्रकार कॉफी पीने के भी कुछ नुकसान हैं, सबसे पहले तो कॉफी का बहुत ज़्यादा सेवन नहीं करना चाहिए, रोज 1-2 कप कॉफ़ी पीना ही ठीक है, कॉफी नींद पे असर डालती है, थाइरोइड वालों को कॉफी के सेवन से बचना चाहिए। ज़्यादा कॉफी पीने से शरीर की नसे कमज़ोर होती हैं, भूख कम लगती है। इसके नुकसान से बचने के लिए पहले एक ग्लास पानी पियें तब कॉफ़ी पियें।

चाय कैसे बनती है?

Tea जिसे हिंदी में चाय कहा जाता है, एक खुशबूदार पेय पदार्थ है, जो की पूर्वी एशिया की सदाबहार झाड़ी है। ये पूरी दुनिया में पानी के बाद सबसे ज़्यादा पीने वाला पेय पदार्थ है। इंडिया में दार्जिलिंग की चाय पत्ती बहुत प्रसिद्ध है।

चाय के प्रकार


• चाय- यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है और सर्दी से राहत दिलाती है।


• ग्रीन टी- यह सूजन, एलर्जी, एक्ने में फायदा पहुचाती है, इसका प्रयोग वजन कम करने में भी किया जाता है। ये हमारे दांतों और मसूड़ों को मज़बूत करती है।


• पेपरमेंट टी- पेपरमिंट यानी पुदीना, इस चाय का उपयोग सूजन, जी मिचलाना और PMS ( pre menstrual syndrome) में किया जाता है।


• oolong टी- यह शरीरका मेटाबोलिज्म बढ़ाने और वजन कम करने में काम आती है।


• macha– यह पेट की चर्बी कम करने ओर शरीर का इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने के काम आती है।


• व्हाइट टी- यह मानसिक तनाव को दूर करने में और वजन कम करने में सहायक होती है।


• कैमोमाइल टी- यह सरदर्द , चिंता और सूजन को कम करने में सहायक होती है और अच्छी नींद लाती है।


• ब्लैक टी- इससे तनाव में कमी आती है, सरदर्द दूर होता है और वजन कम करने में सहायता करती है।


• जिंजर टी- जिंजर टी यानि अदरक वाली चाय , यह गले की ख़राश, सर्दी ज़ुकाम और पेट सम्बन्धी समस्याओं में काम आती है।


• हिबिस्कस टी- इसे हाइपर टेंसन से बचाव के लिए,साथ ही श्वाश संबंधित रोग और लो ब्लडप्रेसर से बचाव के लिए आप पी सकते है।

चाय हमें कुछ हद तक हार्ट में होने वाली समस्याओं से भी सुरक्षित रखने में मदद करती है। इसमें कई प्रकार के कैंसर से भी लड़ने की क्षमता होती है। इसके अलावा यह अल्ज़ाइमर और पार्किंसन जैसे रोगों से भी बचाव करने में सहायता करता है। चाय शारिरिक थकान को दूर करती है। हमारे शरीर को हाइड्रेट रखती है। हर्बल टी digestion ठीक रखती है।

चाय पीने के नुकसान :-

वैसे तो चाय के फायदे ही ज़्यादा है, नुकसान कम। लेकिन किसी भी चीज़ की अति हमेशा नुकसान ही पहुचाती है, इसी तरह चाय भी ज़्यादा पीने से हमें फ़ायदा नहीं बल्कि नुकसान ही होता है, प्रतिदिन के हिसाब से 2-3 कप (700ml) चाय पीना सुरक्षित है। आइये जानते हैं, कि ज़्यादा चाय पीना सेहत के लिये कितना नुकसान दायक हो सकता है-

• ज़्यादा चाय पीने से तनाव बढता है और थकान का अनुभव होता है, हमारी नीँद भी प्रभावित होती है, पेट में जलन , सरदर्द, सिर चकराना और जी मिचलाने की भी समस्या हो सकती है, गर्भवती महिलाओं के लिए भी ज़्यादा चाय पीना सही नही है, इससे मिसकैरेज और शिशु का जन्म के समय वज़न कम होने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

Post a Comment

नया पेज पुराने