ESR Test means in hindi:- ई एस आर टेस्ट का हिंदी मतलब एक सामान्य रक्त जांच होता है जिसमे शरीर मे सूजन,चोट से उत्पन्न संक्रमण आदि का आंकलन किया जाता है।

ेसर टेस्ट क्या होता है।ेेेसर टेस्ट क्या है


ESR test kya hota hai|ई एस आर टेस्ट क्या होता है :-

ESR टेस्ट शरीर मे एरिथ्रोसाइट्स सेडीमेंटेशन के लेवल को मापने के लिए किया जाता है।यह चिकित्सक के सलाह से ही पैथो लैब में की जाती है।सामान्यतः जब डॉ के सलाह से हम रक्त जांच करवाते है तो डॉ रक्त जांच की सूची में esr test को भी शामिल कर देते है।esr टेस्ट मरीज के बीमारी को समझने के लिए डॉ की सहायता करता है।

यह भी पढ़े:- डिप्रेशन को जड़ से खत्म करने का पक्का इलाज़

ESR test kaise kiya jata hai :-

ESR टेस्ट में ब्लड सैंपल को लेकर रेड ब्लड सेल या एरिथ्रोसाइट के सेल्स का टेस्टट्यूब के तली में बैठने के समय का आंकलन किया जाता हैं।यह प्रति घण्टा के हिसाब से आंकड़ा निकाला जाता है।इस प्रोसेस को सेडीमेंटेशन कहते है।इसमे प्रति घण्टे में रेड ब्लड सेल्स के नीचे बैठने की दर को mm/hour से प्रदर्शित किया जाता है।

संक्रमित होने के स्थिति में सेडीमेंटेशन की दर तेज रहती है।

ESR Test Report in Hindi :-

ESR टेस्ट में जो रिजल्ट आती है उसमे हर आयु वर्ग के लिए अलग अलग रेंज होती है जो normal esr range को बताती है देखते है इस लिस्ट में अलग अलग आयु वर्ग का esr range कितना होता है-

  • एक पुरूष में सामान्य ESR RANGE 1-13mm/hour होती है
  • महिलाओं में सामान्य ESR RANGE 1-20mm/hour होती है।

If ESR range is low means in hindi:-

यदि आपकी ESR रेंज की वैल्यू कम आती है तो आपको निम्न बीमारियों की समस्या हो सकती है:-

  1. सिकलसेल एनीमिया
  2. ल्यूकीमिया ( ब्लड कैंसर )
  3. हाइपरविस्कोसिटी
  4. लाल रक्त कणिकाओं की अत्यधिक संख्या होना
  5. हर्ट फेल
  6. फिब्रिनोजेन प्रोटीन का स्तर निम्न होना
  7. W.B.Cs की उच्च संख्या होना

If ESR range is medium but little high :- 

यदि आपका ESR वैल्यू मामूली ज्यादा है तब भी इसमें कई सारे रोगो का खतरा हो सकता है जो इस प्रकार है :-

  1. थाइरोइड समस्या
  2. हर्ट इंफेक्शन
  3. किडनी इंफेक्शन
  4. एनीमिया
  5. लिम्फोमा कैंसर
  6. बोन इंफेक्शन
  7. टी बी
  8. ऑर्थोराईटीज़

ESR test high means in hindi:-

यदि आपकी ESR टेस्ट रेंज बहुत ही ज्यादा उच्च आती है तो आपको निम्न गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है

  1. प्लाज़्मा सेल कैंसर
  2. W.B.Cs. Cancer
  3. ऑर्थोराईटीज़
  4. हाइपर सेंसेटिविटी

डॉ कभी भी esr टेस्ट की विशेष परीक्षण करने को नही कहते बल्कि esr test के द्वारा डॉ को मरीज की बीमारी को समझने का मौका मिल पाता हैं।इस प्रकार ESR test kya hota hai?ESR TEST range high in hindi के द्वारा हमने आपको ेसर टेस्ट के बताया।किसी भी तरह की लैब जांच के लिए अपने चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही काम करें।

Post a Comment

नया पेज पुराने